Spiritual

करें हनुमान जी के इन 12 नामों का जाप, हो जाएंगे जीवन के हर संकट दूर

हनुमान जी को अनेकों नामों से जाना जाता है और मात्र इनके नाम का जाप करने से जीवन के सारे कष्ट दूर हो जाते हैं। जो लोग कर्ज से परेशान हैं या जिनको किसी भी कार्य में सफलता नहीं मिल रही है, वो बस हनुमान जी के नामों का जाप कर लें। हनुमान जी के नामों का जाप करते ही जीवन की परेशानियां गायब हो जाएंगी। हनुमान जी के 12 नामों का वर्णन ग्रंथों में मिलता है और एक श्लोक में इनके 12 नाम लिखे गए हैं। इस श्लोक को पढ़ने से हनुमान जी को प्रसन्न किया जा सकता है। ऐसा कहा जाता है कि जो लोग ये श्लोक पढ़ते हैं उनको साढ़ेसाती और ढय्या से भी मुक्ति मिल जाती है।

Loading...

श्लोक

हनुमानञ्जनीसूनुर्वायुपुत्रो महाबल:।

रामेष्ट: फाल्गुनसख: पिङ्गाक्षोऽमितविक्रम:।।

उदधिक्रमणश्चैव सीताशोकविनाशन:।

लक्ष्मणप्राणदाता च दशग्रीवस्य दर्पहा।।

एवं द्वादश नामानि कपीन्द्रस्य महात्मन:।

स्वापकाले प्रबोधे च यात्राकाले च य: पठेत्।।

तस्य सर्वभयं नास्ति रणे च विजयी भेवत्।

राजद्वारे गह्वरे च भयं नास्ति कदाचन।।

ऊपर बताए गए श्लोक में हनुमान जी के 12 नामों को बताया गया है और इस श्लोक में बताए गए हनुमान जी के नाम इस प्रकार हैं –

1. हनुमान और मंत्र ॐ श्री हनुमते नमः।

मतलब – हनुमान जिनकी ठोड़ी में दरार हो।

पढ़े :  क्या है हिन्दू धर्म के महत्वपूर्ण चिन्ह स्वस्तिक का मतलब और क्या हैं इसकी धार्मिक मान्यताएँ बता दें की वासत्शास्त्र के अनुसार पूजा स्थल, तिज़ोरी, अलमारी में भी स्वस्तिक स्थापित करना चाहिए इससे धनलाभ होता है

2. . वायु पुत्र, ॐ वायुपुत्राय नमः।

मतलब – पवन देव के पुत्र

3 .अञ्जनी सुत, ॐ अञ्जनी सुताय नमः।

मतलब – देवी अंजनी के पुत्र

4. महाबल, ॐ महाबलाय नमः।

मतलब – बहुत ताकत हो।

5.  फाल्गुण सखा, ॐ फाल्गुण सखाय नमः।

मतलब – अर्जुन के मित्र

6- रामेष्ट, ॐ रामेष्ठाय नमः।

मतलब – श्री राम के प्रिय

7. अमित विक्रम, ॐ अमितविक्रमाय नमः।

मतलब – जिसकी वीरता अथाह या असीम हो।

8. पिङ्गाक्ष, ॐ पिंगाक्षाय नमः।

मतलब – जिनकी आंखे लाल या सुनहरी है।

9. सीता शोक विनाशन, ॐ सीताशोकविनाशनाय नमः।

मतलब – माता सीता का दुख दूर करने वाले

10. उदधिक्रमण, ॐ उदधिक्रमणाय नमः।

मतलब – एक छलांग में समुद्र पार करने वाले

11. दशग्रीव दर्पहा, ॐ दशग्रीवस्य दर्पाय नमः।

मतलब – दस सिर वाले रावण का घमंड नाश करने वाले

12. लक्ष्मण प्राण दाता, ॐ लक्ष्मणप्राणदात्रे नमः।

मतलब- लक्ष्मण के प्राण वापस लाने वाले

इस तरह से करें इन नामों का जाप

  • आप हनुमान जी के 12 नामों और इन नामों से जुड़े मंत्र का जाप मंगलवार के दिन करें। वहीं जिन लोगों को ढय्या या साढ़ेसाती है वो लोग शनिवार के दिन हनुमान जी के नाम का जाप करें।
  • हनुमान जी की मूर्ति को लाल रंग का चोला चढ़ाकर उनके 12 नामों का जाप किया जाए, तो कार्य के सफल होने में आ रही बाधा दूर हो जाती है।
  • कर्ज मुक्ति पाने के लिए मंगलवार के दिन हनुमान जी के सामने एक सरसो के तेल का और एक घी का दीपक जला दें और इनके नामों का जाप 11 बार करें। ये उपाय करने से आपको कर्ज से मुक्ति मिल जाएगी।
  • अपने किसी शत्रु पर विजय पाने के लिए लगातार 5 मंगलवार मंदिर जाकर हनुमान जी को पांच गुलाब के फूल अर्पित करें और इनके 12 नामों का जाप करें। ऐसा करने से आपका शत्रु आपको कभी भी हरा नहीं सकेगा।
  • बुरे सपने और ख्याल आने पर अगर हनुमान के नामों से जुड़े मंत्र को पढ़ा जाए। तो बुरे सपने आना बंद हो जाते हैं।
पढ़े :  12 जुलाई से है चातुर्मास की शुरुआत, चार महीनों तक ना करें ये काम चार महीने के लिए योग निद्रा में चले जाते हैं भगवान विष्णु, नहीं किया जाता इस दौरान शुभ काम
Loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top