Intresting

दूल्हे का चेहरा देख कर दुल्हन मंडप से उठ कर खड़ी हो गई, कहा शादी की बात तो हुई ही नहीं थी

जब दो परिवार के बीच शादी होती हैं तो ये बहुत बड़ी बात होती हैं. इस शादी से उनकी खुशियाँ और इज्जत दोनों ही जुड़ी रहती हैं. आखिर इस शादी में दोनों ही फैमिली के सभी जान पहचान वाले लोग जो आते हैं. हालाँकि यदि शादी वाले दिन ही कोई बड़ा काण्ड हो जाए और शादी किसी वजह से टूट जाए तो ये किसी भी परिवार के लिए बहुत बड़ा झटका होगा. अब ऐसा ही कुछ उत्तर प्रदेश के प्रयागराज के चकिया इलाके में कुछ हो गया. बात बीते रविवार की हैं जब वहां एक शादी समारोह हो रहा था. इस शादी में वर पक्ष चौफटका का और लड़की कौशाम्बी के पूरामुफ्ती की रहने वाली थी. मंडप सज चूका था और दुल्हा बारात लेकर आ भी गया. लड़की पक्ष ने दुल्हे और बारातियों का अच्छे से स्वागत भी किया. लेकिन इसके बाद जैसे ही दुल्हन ने दुल्हे का चेहरे देखा तो उसका दिमाग ख़राब हो गया और उसने ऐसी हरकत आर दी कि शादी में आया हर मेहमान हक्का बक्का रह गया.

Loading...

दरअसल दुल्हन उस समय मंडप से उठ कर खड़ी हो गई जब उसने पहली बार दुल्हे का चेहरे देखा. दुल्हन का कहना था कि उसके घर वाले उसे ये कहकर यहाँ लाए थे कि वो सिर्फ लड़का दिखाने ले जा रहे हैं. लेकिन यहाँ आकर पता चला कि उसकी डायरेक्ट शादी ही की जा रही हैं. दुल्हन ने पहली बार दुल्हे को मंडप में ही देखा और जब उसे दूल्हा पसंद नहीं आया तो उसने शादी करने से इंकार कर दिया. लड़की के घर वालो ने उसे बहुत समझाने की कोशिश भी की लेकिन वो नहीं मानी. उधर लड़की की ये हरकत देख लड़के वाले हैरान रह गए.

पढ़े :  कथा: नए कार्य की जानकारी हासिल करने के बाद ही, उसे शुरू करने में समझदारी होती है

उधर दोनों पक्षों में गरमागर्मी का माहोल देख किसी ने पुलिस को फोन कर बुला लिया. ऐसे में पुलिस के आते ही मामला शांत भी हो गया. खुल्दाबाद इंस्पेक्टर रोशनलाल के अनुसार लड़की ने उन्हें बताया कि उसके घर वाले ये कहकर लाए थे कि हम सिर्फ लड़का देखने जा रहे हैं. लेकिन यहाँ आने के बाद वे लोग लड़की पर शादी करने का दबाव बनाने लगे और उसे जबरन मंडप में बैठा दिया. लड़की शादी के लिए राज़ी नहीं थी इसलिए उसने शादी से इंकार कर दिया.

जब लाख समझाने पर भी लड़की नहीं मानी तो दोनों पक्षों ने इस शादी को रद्द करने का फैसला ले लिया. ये पूरा ड्रामा देख लड़के वाले बहुत हैरान थे. लगता हैं उन्हें भी इस बात की जानकारी नहीं थी कि लड़की ऐसा कुछ भी कर सकती हैं. यहाँ सबसे बड़ी गलती लड़की के घर वालो की हैं. ऐसे किसी को अँधेरे में रख कर उससे जबरन शादी करने का नहीं कह सकते हैं. यदि आपकी लड़की शादी के लिए रेडी नहीं हैं तो ऐसे में लड़के वालो को हाँ बोलने का कोई मतलब नहीं हैं. आखिर बदनामी लड़के वालो की भी होती हैं. परिवार वालों को चाहिए कि वे दोनों पहले लड़का लड़की को मिलवा कर उनकी रजामंदी जान ले. इसके बाद ही शादी की तारीख तय करे. नहीं तो आपके यहाँ की शादी में भी इस तरह का ड्रामा हो सकता हैं.

पढ़े :  700 साल पुराना है अक्षयपुरीश्वर मंदिर, पुष्य नक्षत्र के दौरान होती है शनिदेव-शिव की विशेष पूजा
Loading...
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

To Top